Mutual Fund Distributor

म्यूच्यूअल फण्ड सलाहकार बनना एक प्रतिष्ठित काम है क्योंकि म्यूच्यूअल फण्ड सलाहकारों की भूमिका बहुत अधिक होती है। वे जोखिम के लिए पोर्टफोलियो का प्रबंधन करते हैं, अपने ग्राहक के वित्तीय लक्ष्यों का आकलन करते हैं, और ध्यान से उन फंडों को ट्रैक करते हैं जिन्हें वे अपने ग्राहकों के लिए सुझाव के तौर पे उपयोग में ला सके ।

म्यूचुअल फंड निवेश सलाहकार बनने की प्रक्रिया सीधी और अच्छी तरह से स्थापित है। किसी की एनआईएसएम मान्यता और एआरएन नंबर के साथ, किसी को भारत में म्यूचुअल फंड के वितरक या विक्रेता होने का अभ्यास करने का अधिकार है।

मैं म्यूचुअल फंड वितरक कैसे बन सकता हूं?

म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर बनने के लिए आपको एनआईएसएम सीरीज वी-ए: म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर सर्टिफिकेशन की परीक्षा पास करनी होगी |

परीक्षा को सफलतापूर्वक पास करने के बाद एम्फी AMFI को एआरएन (ARN) नंबर जारी करने के लिए आवेदन करना पड़ता है , उसके बाद आपको ARN No मिलता है, जिससे आप म्यूचुअल फंड बेच सकेंगे।
साथ ही, आपको एक कर्मचारी विशिष्ट पहचान संख्या (EUIN) पंजीकरण संख्या आवंटित की जाएगी।
एनआईएसएम प्रमाणीकरण परीक्षा की तारीख से तीन साल की अवधि के लिए वैध है।

म्यूचुअल फंड डिस्ट्रीब्यूटर एक निवेशक को म्यूचुअल फंड स्कीम में निवेश कर के कमीशन कमाता है। एसेट मैनेजमेंट कंपनी (एएमसी) वितरक को कमीशन का भुगतान करती है। म्यूचुअल फंड और फंड हाउस के स्कीम के आधार पर कमीशन अलग-अलग होते हैं।

वितरक(डिस्ट्रीब्यूटर) निवेशकों को म्यूचुअल फंड और फंड हाउस से संबंधित सभी आवश्यक जानकारी प्रदान करता है। इसके अलावा, वितरक निवेशकों को लेनदेन करने में भी सहायता करता है। लेन-देन जैसे निवेश,पैसे निकालना , फंड के बीच स्विच करना आदि।
इसके अलावा, वितरक अपने निवेशक के पोर्टफोलियो की समय-समय पर समीक्षा करते हैं और आवश्यक बदलाव का सुझाव देते हैं।

म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट कैसे बने

आप  फायनान्स फील्ड मे काम कर रहे हो या आप इन्शुरन्स एजेंट ( IFA ) हो , आप कार इन्शुरन्स , मेडिकल इन्शुरन्स का काम कर रहे हो |

Read More

NISM मॉक टेस्ट

१०० से ज्यादा सवालो के जवाब देखे आप अपनी तैयारी परख लो |

Read More

म्यूच्यूअल फण्ड डिस्ट्रीब्यूटर – कैसे बने स्टेप्स

रोल ऑफ़ एडवाइजर

म्यूचुअल फंड एडवाइजर का लक्ष्य ग्राहकों को उनकी संपत्ति को बढ़ाने या सुरक्षित करने और म्यूचुअल फंड योजनाओं में निवेश करके वित्तीय लक्ष्यों तक पहुंचने में मदद करना है।

एमएफ सलाहकार निवेशकों को उनके निवेश क्षितिज, जोखिम लेने की क्षमता और वित्तीय लक्ष्यों का आकलन करने के बाद उनके अनुरूप वित्तीय सलाह देते हैं।

म्यूचुअल फंड निवेश सलाहकार सीधे फंड हाउस से कमीशन कमा सकता है।

निवेशकों की जरूरतों को समझना

यह महत्वपूर्ण है कि म्यूचुअल फंड सलाहकार अपने ग्राहकों के लक्ष्यों के साथ-साथ उन लक्ष्यों को पूरा करने की समय सीमा को समझें। उनकी सलाह ग्राहक के उद्देश्य पर आधारित होनी चाहिए – चाहे वह सेवानिवृत्ति बचत, धन सृजन, उच्च शिक्षा, शादी या अन्य के लिए भुगतान करने की योजना हो।

अपने ग्राहक को शिक्षित करना

म्यूचुअल फंड सलाहकार की अगली भूमिका वर्तमान में उपलब्ध वित्तीय उत्पादों के बारे में अपने ग्राहक को शिक्षित करने की है, विशेष रूप से ग्राहक के लक्ष्यों के अनुकूल काम करना आवश्यक है ।
कुछ मामलों में, सलाहकारों को गहराई तक जाना पड़ सकता है और निवेशकों को उन निवेश बाधाओं के बारे में शिक्षित करना पड़ सकता है जिनका वे सामना कर रहे हैं।

निवेशकों की जोखिम उठाने की क्षमता का मूल्यांकन

कुछ निवेशक अपनी जोखिम सहनशीलता के बारे में जानते हैं और इसे अपने सलाहकार को पहले ही बता सकते हैं। दूसरों को इसकी जानकारी नहीं हो सकती है और इसलिए इसके लिए उनके म्यूचुअल फंड सलाहकार द्वारा मूल्यांकन करने की आवश्यकता है। एक स्थायी वित्तीय पोर्टफोलियो बनाने के लिए अपने निवेश में कितना जोखिम उठा सकते हैं, इस बारे में सावधान रहना आवश्यक है। इसलिए, म्यूचुअल फंड सलाहकार ग्राहकों को जोखिम उठाने की अपनी क्षमता के बारे में जागरूक होने में सहायता करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं।

निवेश विकल्पों का विश्लेषण करना

निवेश विकल्पों की विविधता का आकलन करना और ग्राहकों को आपने तैयार किए विकल्प पेश करना सलाहकार की भूमिकाओं में से एक है। सलाहकार को म्यूचुअल फंड के प्रदर्शन मेट्रिक्स का आकलन करने और अपने ग्राहकों के लक्ष्यों के लिए सबसे उपयुक्त योजनाओं की पहचान करने के लिए तुलना करने के लिए प्रशिक्षित किया जाता है।

पोर्टफोलियो विविधीकरण (Diversification )

म्यूचुअल फंड निवेश सलाहकार अपने अधिकांश ग्राहकों के लक्ष्य के रूप में पोर्टफोलियो विविधीकरण पर ध्यान केंद्रित करते हैं। विविध (diverse) पोर्टफोलियो होने से किसी के निवेश के साथ बहुत अधिक अस्थिरता और जोखिम का अनुभव करने की संभावना नकार दी जाती है। सलाहकार का लक्ष्य किसी के पोर्टफोलियो को अनुकूलित करके जोखिम को कम करना है।

वित्तीय रिकॉर्ड बनाए रखना

म्यूचुअल फंड निवेश सलाहकार का एक अन्य आवश्यक काम अपने ग्राहकों के वित्तीय रिकॉर्ड बनाए रखना है। इन अभिलेखों में लेन-देन विवरण, आय विवरण और बहुत कुछ शामिल हैं।
इस काम के लिए कई ऑनलाइन सॉफ्टवेयर है | उसका उपयोग कर सकते है\

म्यूच्यूअल फण्ड एजेंट कितना कमा सकता है ?

म्यूच्यूअल फण्ड में हम काम करते है तो हमें कमिशन मिलता है | इसमें आपको हर महीने कोई फिक्स्ड कमीशन नहीं मिलता | हम जितना काम करेंगे उसी हिसाब से हमें कमीशन मिलता है|
हमें अपने बिज़नेस पे ट्रेल के जरिये कमिशन मिल जाता है | हर महीने २५००० कमाना होगा तो हमें ३ से ४ करोड़ का AUM बनाना होगा | हर महीने १ लाख कमाने के १२ से १४ करोड़ का AUM बनाना होगा |

Fund house

arn holder +

Hours Work

aum – Lac cr.

(Visited 74 times, 1 visits today)